Dard Shayari Hindi Shayari Tanhaai Shayari (तन्हाई शायरी) Yaad Shayari (याद शायरी)

Jab Hum Soye The Wo Sapno Mein Mere Sath Thi, Dard Bhari Hindi Shayari

Jab Hum Soye The Wo Sapno Mein Mere Sath Thi, Tanhaai Hindi Shayarii

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥
Jab Hum Soye The Wo Sapno Mein Mere Sath Thi,
Or Jab Neand Khuli To Kya dekha Ki Wo Or Kisi Ke Pass This ….
Kaise Baya Karu Is Tanhaai Ke Dard Ko Dosto,
Uni Yaad Hi Ab Jeene Ki Aakhri Aaas Thi…
♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥
जब हम सोए थे वो सपनो में मेरे साथ थी,
और जब नींद खुली तो क्या देखा की वो और किसी के पास थी,
कैसे बयां करू इस तन्हाई के दर्द को दोस्तों,
उनकी याद ही अब जीने की आखरी आस थी…
♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

About the author

Raj

नमस्कार दोस्तों “hindishayarie.in” में आपका स्वागत है | मेरा नाम राज है और मैं शायरी लिखने के साथ साथ एक ब्लॉगर भी हु, यहां पर मेरी लिखी कुछ शायरियां आपको मिलेगी, "hindishayarie.in" से जुड़े रहने के लिए सब्सक्राइब जरूर करें। धन्यवाद दोस्तों..

Add Comment

Click here to post a comment

Topics