Saty Ko Lakwaa Maar Gya Nagaarjun Kavita Sangrah, Kavita

May 16, 2019 naagaarjun 0

सत्य को लकवा मार गया है(सत्य/नागार्जुन कविता संग्रह) सत्य को लकवा मार गया है वह लंबे काठ की तरह पड़ा रहता है सारा दिन, सारी […]